KYC Based Caller Name Display 2022: फर्जी काल करने वालो पर लगेगी लगाम

KYC Based Caller Name Display | TRAI KYC Based Called ID Feature | केवाईसी बेसेस कॉलर नाम | Telecom Regulatory Authority of India  new update | KYC-based name to flash on phone screens | TRAI Said to Moot Mechanism for KYC

KYC Based Caller Name Display : हेलो दोस्तो आपका स्वगात है एक बार फिर से हमारी वेबसाइट indiasevak.com में आज हम ऐसी टेक्नोलॉजी की बात करने जा रहे है जो जल्द ही आने वाली है उसका नाम KYC Based Caller Name display है। जिसका आम भाषा मे कहा जाए तो फ़ोन पर नंबर के साथ कॉल करने वालो का नाम भी दिखाई देना।

नई दिल्ली: टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी TRAI जल्द ही कॉलर्स के KYC पर बेस्ड एक मैकेनिज्म पर काम शुरू कर सकती है. फिलहाल कोई आपको कॉल करता है तो स्क्रीन पर सिर्फ उसका नंबर नजर आता है, लेकिन ट्राई के इस फ्रेमवर्क के फाइनल होने के बाद आपको फोन पर यूजर का KYC नाम भी नजर आएगा.

एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, TRAI जल्द ही फोन स्क्रीन पर कॉलर्स KYC बेस्ड नाम फ्लैश करने के मैकेनिज्म को तैयार करने पर काम शुरू कर सकती है. इस मैकेनिज्म के बाद जब भी कोई आपको फोन कॉल करेगा तो स्क्रीन पर उसका नाम फ्लैश होगा.

KYC Based Caller Name क्या है

केवाईसी बेसेस कॉलर नाम एक ऐसा फीचर है जिसमे जिसके नाम पर होगी सिम, उनका नाम होगा मोबाइल की डिस्प्ले पर नजर आयेगा। यानी कि जिस दस्तावेज के आधार पर कस्टमर ने सिम ली है वो अगर कहीं भी काल करेगा तो उसका कॉल करने वाले के मोबाइल स्क्रीन पर नाम भी नजर आयेगा।

यह भी पढ़ें

Aadhaar link with pan card online: आधार को पैन कार्ड के साथ कैसे लिंक करें

Passport Size Photo Kaise Banaye 2022: पासपोर्ट साइज की फोटो कैसे बनाएं?

Aadhaar PVC Card kaise banaye: आधार पीवीसी कार्ड अप्लाई 2022

PF Advance withdrawal 2022, पीएफ का पैसे कैसे निकाले

KYC Based Caller Name display

अब आपको बिना ट्रू कॉलर ऐप की मदद से अनजान नंबर से आए कॉल की जानकारी मिल जाया करेगी। टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई एक ऐसे ही मैकेनिज्म पर काम रही है, जिसके जरिए किसी के फोन में आए कॉलर के नाम की जानकारी उसके सिम पर कराए गए KYC वाले नाम से पता चलेगी।

 

फिलहाल कोई आपको कॉल करता है तो स्क्रीन पर सिर्फ उसका नंबर नजर आता है, लेकिन ट्राई के इस फ्रेमवर्क के फाइनल होने के बाद आपको फोन पर यूजर का KYC नाम भी नजर आएगा। इस मैकेनिज्म के बाद जब भी कोई आपको फोन कॉल करेगा तो स्क्रीन पर उसका नाम फ्लैश होगा।

TRAI KYC Based Called ID Feature

KYC Based Caller Name Display

एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, TRAI जल्द ही फोन स्क्रीन पर कॉलर्स KYC बेस्ड नाम फ्लैश करने के मैकेनिज्म को तैयार करने पर काम शुरू कर सकती है. इस मैकेनिज्म के बाद जब भी कोई आपको फोन कॉल करेगा तो स्क्रीन पर उसका नाम फ्लैश होगा.

जल्द शुरू होगा इस पर काम
यह फीचर काफी हद तक ट्रू कॉल की तरह काम करेगा. दूरसंचार विभाग ने भी ट्राई से इस पर काम शुरू करने के लिए कहा है. TRAI के चेयरमैन पीडी वाघेला ने बताया कि इस पर कंसल्टेशन अगले कुछ महीनों में शुरू हो सकती है.

KYC Based Caller Name benefits

यूजर अपनी पहचान छुपा नहीं सकेगा
फर्जी और स्‍पैम कॉल से सावधान हो सकेंगे
डॉक्यूमेंट के आधार पर सिम होने के कारण फर्जी काल करने वालो को रहेगा डर
फ़्रॉड होने पर तुरंत जिस नंबर से कॉल आया उसका पूरी detils निकाली जा सकेगी आसानी से

सभी यूजर्स को कराना होगा केवाईसी

इस नई केवाईसी बेस्ड प्रक्रिया दूरसंचार विभाग के मानदंडों के अनुसार होगी। इस प्रक्रिया के तहत केवाईसी कॉल करने वाले यूजर्स की पहचान हो सकेगी। इस प्रक्रिया में टेलिकॉम कंपनियों की ओर से यूजर्स का केवाईसी के नाम पर ऑफिशियल नाम, पता दर्ज करना होगा। इसके अलावा दस्तावेज के तौर पर वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या फिर बिजली के बिल की रसीद देनी होगी।

KYC-based caller name से फेक कॉल्स से बच सकेंगे यूजर्स

पीडी वाघेला ने बताया कि इस फीचर के आने के बाद फेक कॉल्स से यूजर्स बच सकेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रेमवर्क पूरा होने के बाद इस फीचर को लेकर ज्यादा चीजें क्लियर हो पाएंगी। बता दें कि ट्रू कॉलर जैसे कॉलिंग ऐप्स इस तरह के फीचर्स मुहैया कराते हैं, लेकिन इसमें यूजर्स के KYC पर बेस्ड नाम नजर नहीं आते हैं। एक्सपर्ट्स की मानें तो इस फीचर (KYC-based caller name) के आने से स्पैम और फ्रॉड कॉल्स के बढ़ते मामलों में कमी आएगी।

नहीं होगी थर्ड पार्टी एप की जरूरत

ट्राई के चेयरमैन पीडी वाघेला ने बताया है कि हमें इससे जुड़े कुछ रिफरेंस मिले हैं और जल्द ही इस पर काम शुरू होगा. यदि ऐसा फीचर पेश किया जाता है तो लोगों को कॉलर का नाम जानने के लिए ट्रूकॉलर जैसे थर्ड-पार्टी एप्स की कोई जरूरत नहीं होगी. उन्होंने कहा कि ट्राइ इस बारे में पहले से ही विचार कर रहा था लेकिन अब टेलीकॉम डिपार्टमेंट भी इस पर काम कर रहा है और यह जल्द ही शुरू होगा

KYC-based name to flash on phone screens कैसे काम करेगा

जब किसी के पास कोई भी फोन करेगा तो सिम खरीदते समय उसने जो डॉक्यूमेंट्स दिए होंगे उसमें दिया गया नाम आपके फोन में दिखेगा. इससे स्पैम और फिशिंग कॉल्स से बचा जा सकेगा. बैंक, इंश्योरेंस एजेंट बनकर कई लोग फोन करते हैं और लोगों को ठगी का शिकार बनाते हैं. अब ऐसा नहीं होगा. यदि कोई अपने नंबर से बैंक, इंश्योरेंस या किसी कंपनी का एजेंट बनकर फोन करेगा तो उसमें उसकी बैंक, कंपनी का नाम नहीं आएगा और लोग जान पाएंगे कि ये फर्जी कॉल है.

निष्कर्ष:

इस article में हमने आपको KYC Based Caller Name Display 2022 के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है | इसमें हमने आपको बताया है की आप आने वाले समय मे कैसे आप फर्जी ओर स्पैम कॉल से बच सकते हो ।
अगर आपको यह article अच्छा लगा है तो प्लीज आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें |

KYC Based Caller Name FAQ

KYC Based Caller Name क्या है

केवाईसी बेसेस कॉलर नाम एक ऐसा ट्राई द्वारा बनाया हुआ फीचर्स होगा जिसमें आपको फोन कॉल करेने वालो का स्क्रीन पर उसका नाम फ्लैश होगा.

TRAI KYC Based Called ID Feature:

TRAI जल्द ही फोन स्क्रीन पर कॉलर्स KYC बेस्ड नाम फ्लैश करने के मैकेनिज्म को तैयार करने पर काम शुरू कर सकती है. 

कैसे काम करेगा KYC Based Caller system

जब किसी के पास कोई भी फोन करेगा तो सिम खरीदते समय उसने जो डॉक्यूमेंट्स दिए होंगे उसमें दिया गया नाम आपके फोन में दिखेगा. इससे स्पैम और फिशिंग कॉल्स से बचा जा सकेगा

शेयर करें

Leave a Comment